चिट्ठियों में यूरोप

सोमदत्त

प्रश्न 1: इस पत्र का लेखक किस देश/शहर की यात्रा पर गया था?

उत्तर: लेखक युगोस्लाविया के निविसाद शहर की यात्रा पर गया था।

प्रश्न 2: उस देश में कौन-कौन से खेल खेले जाते हैं? कौन सा खेल सबसे अधिक लोकप्रिय है?

उत्तर: उस देश में फुटबॉल, टेबल टेनिस और स्केटिंग खेले जाते हैं। इनमें से फुटबॉल सबसे अधिक लोकप्रिय है।

प्रश्न 3: उस देश के कुछ खाद्य पदार्थों के नाम बताओ।

उत्तर: यहाँ के मुख्य भोजन हैं; ब्रेड, जेली, योगर्ट और सूप। कभी कभी स्टू के साथ चावल भी खाया जाता है। स्टू हमारे यहाँ की करी की तरह होता है।

प्रश्न 4: लेखक ने ये क्यों कहा, “अच्छे से रहना ताकि माँ को तकलीफ न हो”?

उत्तर: अक्सर बच्चे माँ के अधिक करीब होने की वजह से उन्हें परेशान भी ज्यादा करते हैं। पिता की अनुपस्थिति में उनकी शरारत थोड़ी सी बढ़ जाती है। लेखक को यह चिंता हो रही होगी कि बच्चों की माँ ज्यादा परेशान न हो जाएँ।

प्रश्न 5: भारतीय खाने की कुछ चीजें जैसे चावल, सेवइयां, मिठाइयाँ यूरोप में अलग ढ़ंग से खाई जाती हैं। क्या भारत में ये चीजें अलग अलग ढ़ंग से पकाई जाती हैं?

उत्तर: जैसा कि पत्र में लिखा है सेवइयां पानी में उबाल कर खाई जाती हैं। चावल स्टू के साथ खाया जाता और मिठाई बेर के गूदे से बनी होती हैं। भारत में सेवइयां दूध में उबाली जाती हैं। चावल को हम दाल और सब्जी के साथ खाते हैं। हमारे यहाँ की ज्यादातर मिठाइयाँ दूध से बनती हैं। भारतीय खाने में मसालों का बहुत इस्तेमाल होता है। यूरोप के खाने में मसाले नहीं के बराबर होते हैं। किसी भी भारतीय को यूरोप का खाना बेस्वाद लग सकता है।



Copyright © excellup 2014