जंगल बुक पार्ट 1: मोगली का बचपन

सरदार का भाषण

हिंदी अनुवाद

अजय आनंद

अकेला ने धीरे से अपना सिर उठाया और बोलना शुरु किया

मेरे आजाद भेड़ियो, और शेर खान के सियारों! मैंने बारह वर्षों तक तुम लोगों का नेतृत्व किया है। इस लम्बे समय में तुममे से कोई भी बुरी तरह घायल नहीं हुआ या किसी फंदे में नहीं फँसा। इस बार मैं अपना शिकार पकड़ने में फेल हो गया। तुम्हें पता है कि इसकी साजिश कैसे रची गई थी। तुमलोगों ने किस तरह से मुझे एक अनजान हिरण के पास धकेल दिया ताकि मेरी कमजोरी जग जाहिर हो जाए। यह सब बड़ी चतुराई से किया गया। तुम्हे पूरा हक है मुझे इस शिला पर ही मार डालने का। इसलिए मैं पूछता हूँ कि इस अकेले भेड़िये को खतम करने के लिए कौन आगे आएगा। सबको पता है कि जंगल का कानून कहता है मुझे मारने के लिए किसी को भी अकेले ही आना होगा।

चारों तरफ खामोशी छा गई। कोई भी भेड़िया इतनी हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था कि अकेला का वध कर सके। तभी शेर खान गरजा, क्या बात है! अरे, हमें इस कमजोर हो चुके भेड़िये से क्या काम? यह तो अपने आप ही मर जाएगा। हमें तो उस इंसान के बच्चे की चिंता करनी चाहिए जो अभी वर्षों तक जीवित रहेगा। ओ आजाद भेड़ियो, वह तो शुरु से मेरा शिकार था। उसे मेरे हवाले कर दो। मैं ऐसे भी इंसानों से परेशान हो चुका हूँ। उसने दस सालों से इस जंगल को परेशान कर रखा है। इस इंसान के बच्चे को मेरे हवाले कर दो नहीं तो मैं हमेशा इसी जंगल में शिकार करूंगा और तुम्हें एक हड्डी भी नहीं लेने दूँगा। वह एक इंसान है, इंसान का बच्चा है। मेरा एक-एक रोयां इससे घृणा करता है।

फिर तो उस दल के आधे से ज्यादा सदस्य चिल्लाने लगे, इंसान का बच्चा! इंसान का बच्चा! इसका यहाँ क्या काम? इसको वापस गाँव तक खदेड़ दो।

शेर खान कहा, और ऐसा करके पूरे गाँव से दुश्मनी मोल ले लो। तुम सारे मूर्ख हो। इसे मेरे हवाले कर दो। यह एक इंसान है। हम में से कोई भी इसकी आँखों में आँखें डालकर देखने की हिम्मत नहीं रखता।

अकेला ने फिर से अपना सिर उठाया और बोला, नहीं! उसने हमारे साथ भोजन किया है, और हमारे साथ सोया है। उसने हमारे लिए शिकार को दौड़ाकर घेरा है। उसने आजतक जंगल का कोई कानून नहीं तोड़ा है।

बीच में बघीरा भी अपनी धीर और गंभीर वाणी में बोला, ये मत भूलो कि मैंने उसे दल में शामिल करवाने के लिए एक भैंसा दिया था। उस भैंसे की कीमत कुछ भी ना हो लेकिन बघीरा की इज्जत अनमोल है। मोगली इस इज्जत की रखवाली के लिए तुम्हारा सामना जरूर करेगा।


Copyright © excellup 2014