यमराज की दिशा

NCERT Solution

Question 1: कवि को दक्षिण दिशा पहचानने में कभी मुश्किल क्यों नहीं हुई?

उत्तर: कवि हमेशा अपनी माँ की सीख का पालन करते हुए यह ध्यान रखता है कि दक्षिण की ओर पैर करके नहीं सोना चाहिए। ऐसा करने में उसे हमेशा दक्षिण दिशा का पता चल जाता है और कोई मुश्किल नहीं होती है।

Question 2: कवि ने ऐसा क्यों कहा कि दक्षिण को लाँघ लेना संभव नहीं था?

उत्तर: आप दुनिया के किसी भी भाग में चले जाएँ, वहाँ से कोई न कोई स्थान दक्षिण की ओर होगा ही। दूसरे शब्दों में आप कभी भी दक्षिण दिशा की आखिरी छोर तक नहीं पहुँच सकते हैं। इसलिए कवि ने कहा है कि दक्षिण को लाँघ लेना संभव नहीं था।


Question 3: कवि के अनुसार आज हर दिशा दक्षिण दिशा क्यों हो गई है?

उत्तर: कवि को लगता है कि आज पापी इतने बढ़ गये हैं कि हर दिशा में यमराज नजर आते हैं। इसलिए आज हर दिशा दक्षिण दिशा हो गई है जहाँ यमराज का निवास है।

Question 4: भाव स्पष्ट कीजिए

सभी दिशाओं में यमराज के आलीशान महल हैं
और वे सभी में एक साथ
अपनी दहकती आँखों सहित विराजते हैं

उत्तर: आज वक्त बदल चुका है और समाज में कई बुराइयाँ घर कर चुकी हैं। कवि को लगता है अब तो हर दिशा में यमराज का घर दिखता है। बड़े बड़े सफेदपोश अपराधी अपनी विशाल अट्टालिकाओं से यमराज की भाँति अपनी दहकती आँखों से आपको घूरते से लगते हैं। कहीं भ्रष्ट पुलिस वाले के रूप में, कहीं भ्रष्ट नेता के रूप में, तो कहीं लालची डॉक्टर के रूप में ये यमराज आपको हर तरह की मौत देने को हमेशा तैयार रहते हैं।


Question 5: कवि को माँ ईश्वर से प्रेरणा पाकर उसे कुछ मार्ग निर्देश देती है। आपकी माँ भी समय समय पर आपको सीख देती होंगी

  1. वह आपको क्या सीख देती हैं?

    उत्तर: माँ हमेशा सही रास्ते पर चलने की सीख देती है। माँ हमेशा इमानदारी, सत्य और अनुशासन की सीख देती है।
  2. क्या उसकी हर सीख आपको उचित जान पड़ती है? यदि हाँ तो क्यों और नहीं तो क्यों नहीं?

    उत्तर: माँ की हर सीख मुझे उचित जान पड़ती है। क्योंकि माँ की सीख से सही रास्ते पर चलने में मदद मिलती है।

Question 6: कभी कभी उचित अनुचित निर्णय के पीछे ईश्वर का भय दिखाना आवश्यक हो जाता है। इसके क्या कारण हो सकते हैं?

उत्तर: ऐसा माना जाता है कि किसी भी बात को आस्था से जोड़ने से मनुष्य उसका पालन आसानी से कर पाता है। इसलिए कभी कभी उचित अनुचित निर्णय के पीछे ईश्वर का भय दिखाना आवश्यक हो जाता है।



Copyright © excellup 2014