रक्त और हमारा शरीर

यतीश अग्रवाल

इस लेख को यतीश अग्रवाल ने लिखा है। लेखक ने बड़ी ही सरल भाषा में रक्त और उसकी भूमिका के बारे में समझाने का प्रयत्न किया है। इस लेख को रोचक बनाने के लिए संवाद की शैली में लिखा गया है।

रक्त हमारे शरीर में पतली-पतली नलियों से होकर बहता है। रक्त के दो भाग होते हैं। तरल भाग को प्लाज्मा कहते हैं। इसके अलावा रक्त में सूक्ष्म आकार की कणिकाएँ होती हैं। लाल रक्त कणिका का काम है ऑक्सीजन को शरीर के विभिन्न अंगों तक पहुँचाना। लाल रक्त कणिकाओं का निर्माण अस्थि मज्जा में होता है। पौष्टिक आहार की कमी से शरीर में लाल रक्त कणिकाओं की कमी हो जाती है। इस रोग को एनीमिया कहते हैं। श्वेत रक्त कणिकाएँ रोगाणुओं से लड़ने का काम करती हैं। कुछ रंगहीन कणिकाएँ होती हैं जिन्हें बिंबाणु कहते हैं। जब कहीं किसी आघात से रक्त बहने लगता है तो बिंबाणु का काम होता है रक्त के थक्के जमाकर रक्त को बहने से रोकना।

हमें भोजन को अच्छी तरह से साफ करके ही खाना चाहिए। दूषित पानी पीने से बचना चाहिए। पेट के कीड़ों से बचने के लिए खुले में शौच नहीं करना चाहिए और नंगे पाँव घूमने से बचना चाहिए।

जब किसी का अत्यधिक रक्त बह जाता है तो उसे किसी अन्य व्यक्ति का रक्त चढ़ाया जा सकता है। रक्त को चार समूहों में बाँटा गया है। उचित जाँच के बाद किसी भी व्यक्ति को उचित समूह का रक्त चढ़ाया जा सकता है। ब्लड बैंक में विभिन्न समूहों के रक्त का भंडार होता है। अठारह वर्ष से अधिक आयु का कोई भी स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है। रक्तदान करके कई लोगों की जान बचाई जा सकती है।


पाठ से

प्रश्न 1: रक्त के बहाव को रोकने के लिए क्या करना चाहिए?

उत्तर: रक्त के बहाव को रोकने के लिए चोट वाले स्थान पर कसकर कपड़े की पट्टी बाँध देनी चाहिए।

प्रश्न 2: खून को ‘भानुमती का पिटारा’ क्यों कहा जाता है?

उत्तर: खून में विभिन्न प्रकार के असंख्य कण मौजूद होते हैं। इसलिए खून को ‘भानुमती का पिटारा’ कहा जाता है।

प्रश्न 3: एनीमिया से बचने के लिए हमें क्या-क्या खाना चाहिए?

उत्तर: एनीमिया से बचने के लिए हमें पौष्टिक भोजन खाना चाहिए। इसके लिए हरी सब्जी, फल, साग, आदि का सेवन करना चाहिए।

प्रश्न 4: पेट में कीड़े क्यों हो जाते हैं? इनसे कैसे बचा जा सकता है?

उत्तर: दूषित भोजन या पानी का सेवन करने से पेट में कीड़े हो जाते हैं। कुछ कीड़ों के लार्वा हमारी त्वचा से होकर भी शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। इनसे बचने के लिए हमें साफ सुथरा भोजन और पानी लेना चाहिए। शौच से आने के बाद हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोना चाहिए। खुले में शौच नहीं करना चाहिए। नंगे पाँव घूमने से भी बचना चाहिए।

प्रश्न 5: रक्त के सफेद कणों को ‘वीर सिपाही’ क्यों कहा गया है?

उत्तर: रक्त के सफेद कण रोगाणुओं से लड़कर हमें विभिन्न रोगों से बचाते हैं। इसलिए रक्त के सफेद कणों को ‘वीर सिपाही’ कहा गया है।


प्रश्न 6: ब्लड बैंक में रक्तदान से क्या लाभ है?

उत्तर: कई लोगों को रक्त चढ़ाने की जरूरत पड़ती है। ब्लड बैंक में रक्तदान से ऐसे लोगों की जान बचाई जा सकती है।

प्रश्न 7: साँसे लेने पर शुद्ध वायु से जो ऑक्सीजन प्राप्त होती है, उसे शरीर के हर हिस्से में कौन पहुँचाता है।

  1. सफेद कण
  2. लाल कण
  3. साँस नली
  4. फेफड़े

उत्तर: लाल कण

पाठ से आगे

प्रश्न 1: रक्त में हीमोग्लोबिन के लिए किस खनिज की आवश्यकता पड़ती है

  1. जस्ता
  2. शीशा
  3. लोहा
  4. प्लैटिनम

उत्तर: लोहा

प्रश्न 2: बिंबाणु (प्लैटलेट कण) की कमी किस बीमारी में पाई जाती है?

  1. टाइफायड
  2. मलेरिया
  3. डेंगू
  4. फाइलेरिया

उत्तर: (c) डेंगू




Copyright © excellup 2014