खनिज

NCERT Solution

बहुवैकल्पिक प्रश्न

प्रश्न 1. निम्नलिखित में से कौन सा खनिज अपक्षयित पदार्थों के अवशिष्ट भार को त्यागता हुआ चट्टानों के अपघटन से बनता है?

  1. कोयला
  2. बॉक्साइट
  3. सोना
  4. जस्ता

उत्तर: (b) बॉक्साइट


प्रश्न 2. झारखंड में स्थित कोडरमा निम्नलिखित से किस खनिज का अग्रणी उत्पादक है?

  1. बॉक्साइट
  2. अभ्रक
  3. लौह अयस्क
  4. ताँबा

उत्तर: (b) अभ्रक

प्रश्न 3. निम्नलिखित चट्टानों में से किस चट्टान के स्तरों में खनिजों का निक्षेपण और संचयन होता है?

  1. तलछटी चट्टानें
  2. आग्नेय चट्टानें
  3. कायांतरिक चट्टानें
  4. इनमें से कोई नहीं

उत्तर: (a) तलछटी चट्टानें

प्रश्न 4. मोनाजाइट रेत में निम्नलिखित में से कौन सा खनिज पाया जाता है?

  1. खनिज तेल
  2. यूरेनियम
  3. थोरियम
  4. कोयला

उत्तर: (c) थोरियम


निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लगभग 30 शब्दों में दीजिए।

प्रश्न 1. लौह और अलौह खनिज में अंतर स्पष्ट करें।

उत्तर:

लौह खनिजअलौह खनिज
इनमें लोहा होता है।इनमें लोहा नहीं होता है।
उदाहरण: लौह अयस्क, मैगनीज, निकेल, कोबाल्ट, आदि।उदाहरण: ताँबा, बॉक्साइट, टिन, आदि।

प्रश्न 2. परंपरागत तथा गैर परंपरागत ऊर्जा साधन में अंतर स्पष्ट करें।

उत्तर:

परंपरागत ऊर्जा साधनगैर-परंपरागत ऊर्जा साधन
इनका इस्तेमाल लंबे समय से हो रहा है।इनका इस्तेमाल अभी हाल ही में शुरु हुआ है।
उदाहरण: कोयला, जलावन की लकड़ी, पेट्रोलियम, पनबिजली, आदि।उदाहरण: सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, परमाणु ऊर्जा, आदि।

प्रश्न 3. खनिज क्या है?

उत्तर: वह समरूप पदार्थ जिसकी एक निश्चित आंतरिक संरचना हो और जो प्राकृतिक रूप से उपलब्ध हो खनिज कहलाता है।

प्रश्न 4. आग्नेय तथा कायांतरित चट्टानों में खनिजों का निर्माण कैसे होता है?

उत्तर: आग्नेय और रूपांतरित चट्टानों में छोटे जमाव शिराओं के रूप में और बड़े जमाव परत के रूप में पाये जाते हैं। जब खनिज पिघली हुई अवस्था या गैसीय अवस्था में होता है तब इन शैलों में खनिज का निर्माण होता है। ऐसे में खनिज दरारों से होकर भूमि की ऊपरी सतह तक पहुँच जाते हैं। उदाहरण: टिन, जस्ता, लेड, आदि।

प्रश्न 5. हमें खनिजों के संरक्षण की क्यों आवश्यकता है?

उत्तर: खनिजों के बनने में करोड़ों वर्ष लग जाते हैं। इसलिये खनिज एक अनवीकरण योग्य संसाधन है। हम बड़ी तेजी से खनिजों का इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन खनिजों के पुनर्भरण की प्रक्रिया बहुत धीमी होती है। इसलिए खनिजों का संरक्षण करना महत्वपूर्ण हो जाता है


निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लगभग 120 शब्दों में दीजिए।

प्रश्न 1. भारत में कोयले के वितरण का वर्णन कीजिए।

उत्तर: भारत में पाया जाने वाला कोयला दो मुख्य भूगर्भी युगों की चट्टानों की परतों में मिलता है। गोंडवाना कोयले का निर्माण बीस करोड़ साल पहले हुआ था। गोंडवाना कोयले के मुख्य स्रोत दामोदर घाटी में हैं। इस क्षेत्र में झरिया, रानीगंज और बोकारो में कोयले की मुख्य खदाने हैं। कोयले के भंडार गोदावरी, महानदी, सोन और वर्धा की घाटियों में भी हैं। टरशियरी निक्षेप के कोयले का निर्माण लगभग साढ़े पाँच करोड़ साल पहले हुआ था। पूर्वोत्तर के मेघालय, असम, अरुणाचल और नागालैंड में टरशियरी कोयला पाया जाता है।

प्रश्न 2. भारत में सौर ऊर्जा का भविष्य उज्जवल है। क्यों?

उत्तर: सौर ऊर्जा पर्यावरण हितैषी है। यह ग्रामीण इलाकों की ऊर्जा समस्या को समाप्त कर सकता है। सौर ऊर्जा के अधिकाधिक इस्तेमाल से हम जीवाश्म ईंधन पर से अपनी निर्भरता कम कर सकते हैं। भारत के अधिकांश हिस्सों में वर्ष के अधिकतर महीनों में धूप प्रचुर मात्रा में मिलती है। इसलिए यहाँ लगभग सालभर सौर ऊर्जा से बिजली बनाई जा सकती है। धीरे-धीरे टेक्नॉलोजी भी सस्ती हो रही है। निकट भविष्य में सौर पैनल इतने सस्ते हो जाएंगे कि लगभग हर घर में इनका इस्तेमाल होने लगेगा। इसलिए हम कह सकते हैं कि भारत में सौर ऊर्जा का भविष्य उज्ज्वल है।



Copyright © excellup 2014