सूरदास के पद

NCERT Solution

प्रश्न 1: बालक श्रीकृष्ण किस लोभ के कारण दूध पीने के लिए तैयार हुए?

उत्तर: कृष्ण की माँ ने यह बताया था कि दूध पीने से कृष्ण की चोटी लंबी हो जायेगी। इसलिए वे दूध पीने को तैयार हुए।

प्रश्न 2: श्रीकृष्ण अपनी चोटी के विषय में क्या-क्या सोच रहे थे?

उत्तर: कृष्ण अपनी चोटी के बारे में तरह तरह के सपने देख रहे थे। उन्हें लगता था कि उनकी चोटी किसी लता की तरह मोटी और लंबी हो जायेगी। उन्हें लगता था कि फिर उनकी चोटी का बड़े यत्न से साज श्रृंगार भी होगा फिर उनकी चोटी नागिन की तरह जमीन पर लोटती फिरेगी।

प्रश्न 3: दूध की तुलना में श्रीकृष्ण कौन से खाद्य पदार्थ को अधिक पसंद करते हैं?

उत्तर: मक्खन

प्रश्न 4: ‘तैं ही पूत अनोखौ जायौ’ – पंक्तियों में ग्वालन के मन में कौन से भाव मुखरित हो रहे हैं?

उत्तर: इन पंक्तियों में उपालंभ या शिकायत का भाव है।

प्रश्न 5: मक्खन चुराते और खाते समय श्रीकृष्ण थोड़ा सा मक्खन बिखरा क्यों देते हैं?

उत्तर: कृष्ण मक्खन चोरी करके खाते थे। पकड़े जाने के डर से वे जल्दी जल्दी मक्खन चट कर जाते थे इसलिए थोड़ा मक्खन जमीन पर भी गिरा देते थे।

प्रश्न 6: दोनों पदों में से आपको कौन सा पद अधिक अच्छा लगता है और क्यों?

उत्तर: दोनों ही पद अच्छे हैं। पहले पद में कृष्ण के अबोध रूप का वर्णन है। आज भी माँएं अपने बच्चों को सही भोजन कराने के लिए मनगढ़ंत कहानियाँ बनाती है और अबोध बच्चा उन बातों में आ ही जाता है।

दूसरे पद में कृष्ण की बाल सुलभ शरारतों का वर्णन है। कृष्ण की बाललीला की कहानियों अनगिनत हैं।



Copyright © excellup 2014