गुड़िया

NCERT Solution

प्रश्न 1: गुड़िया को कौन, कहाँ से और क्यों लाया है?

उत्तर: गुड़िया को बच्चा मेले से लाया है। वह इससे जी भर कर खेलना चाहता है।

प्रश्न 2: कविता में जिस गुड़िया की चर्चा है वह कैसी है?

उत्तर: गुड़िया बहुत सुंदर है। उसने सितारों से जड़ी चुनरी पहन रखी है। गुड़िया की आँखें काली-काली हैं।

प्रश्न 3: कवि ने अपनी गुड़िया के बारे में अनेक बातें बताई है। उनमें से कोई दो बातें लिखो।

उत्तर: गुड़िया पुरानी चीजों से बनी है। लेकिन गुड़िया बहुत सुंदर है और किसी परी जैसी लग रही है।

प्रश्न 4: बचपन में तुम भी बहुत से खिलौनों से खेले होगे। अपने किसी खिलौने के बारे में बताओ।

उत्तर: जब मैं छोटा था तो मेरे पास एक कार हुआ करती थी। वह चमचमाती लाल रंग की थी। उस कार में बैट्री लगी थी। स्विच ऑन करते ही कार चलने लगती थी और अपने आप दायें बायें मुड़ती थी। कार से संगीत भी बजता था। कार के दरवाजे भी अपने आप खुलते और बंद होते थे।v

प्रश्न 5: अगर तुम्हें अपने लिए कोई खिलौना खरीदना हो तो तुम कौन-कौन सी बातें ध्यान में रखोगे?

उत्तर: खिलौना सुंदर होना चाहिए। वह ऐसे पदार्थ का बना हो जिससे कटने का खतरा न रहे। खिलौना मजबूत होना चाहिए ताकि टिकाउ हो।

प्रश्न 6: यदि तुम मेले में जाओगे तो क्या खरीदकर लाना चाहोगे और क्यों?

उत्तर: इस बार मेले से मैं साबुन के बुलबुले बनाने वाला खिलौना लाना चाहता हूँ। यह खिलौना मैं अपनी छोटी बहन के लिए खरीदना चाहता हूँ।

प्रश्न 7: तुम अपने प्रदेश के किसी मेले के बारे में बताओ। पता करो कि वह मेला क्यों लगता है? वहाँ कौन-कौन से लोग आते हैं और वे क्या करते हैं? इस काम में तुम पुस्तकालय या बड़ों की सहायता ले सकते हो।

उत्तर: मेरे प्रदेश में हर साल दिवाली के बाद सोनपुर का मेला लगता है। सोनपुर पटना के पास गंगा नदी के दूसरे किनारे पर स्थित है। इसे हरिहरनाथ का मेला भी कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि भगवान विष्णु ने इसी स्थान पर गज को घड़ियाल से छुटकारा दिलाया था। यह मेला मुख्य रूप से मवेशियों की खरीद बिक्री के लिए मशहूर है। आज भी वहाँ हाथियों के खरीददार देखे जा सकते हैं।

प्रश्न 8: तुम पुस्तक मेला, फिल्म मेला और व्यापार मेला आदि के बारे में जानकारी प्राप्त करो और बताओ कि अगर तुम्हें इनमें से किसी मेले में जाने का अवसर मिले तो तुम किस मेले में जाना चाहोगे और क्यों?

उत्तर: मैंने पढ़ा है कि दिल्ली में पुस्तक मेला और व्यापार मेला लगते हैं। मुझे किताबों में अत्यधिक रुचि है। पाठ्य पुस्तक के अलावा भी मैं कई किताबें पढ़ता हूँ। इसलिए मेरी इच्छा है कि पुस्तक मेला घूमने जाऊँ।



Copyright © excellup 2014